One MLA One Pension: इस तरह पंजाब का भाग्य बदल देंगे भगवंत मान, देखिये

One MLA One Pension क्या है?

One MLA One Pension वन MLA- वन पेंशन (One MLA One Pension क्या है )- वन एमएलए वन पेंशन लागू करने वाला पंजाब देश का पहला राज्य बन गया है। अब चाहे एक आदमी कितनी बार भी एमएलए बने लेकिन उसको एक ही बार की पेंशन मिलेगी बार बार एमएलए बनने पर अलग-अलग पेंशन नहीं मिलेगी यह पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ऐलान कर दिया है।

वन एमएलए वन पेंशन [One MLA One Pension] का नाम सुनते ही बहुत सारे नेताओं के दिमाग में टेंशन घूमने लगी है और काफी राजनीतिज्ञ विशेषज्ञ ने कार्य को सहारा भी है।

तीन लाख करोड़ कर्ज के तले दबे पंजाब के लिए क्या यह कदम सही होगा या फिर एस्से कुछ नहीं होने वाला है इन सभी सवालों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाले हैं जरूर इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

शुक्रवार को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने एक रैली के दौरान इस महत्वपूर्ण योजना की घोषणा कर दी है। भगवंत मान ने कहा कि जब नेता सेवा के नाम पर राजनीतिक में आते हैं तो लाखों की पेंशन क्यों ले जाते हैं।

भगवंत मान ने कहा कि नेताओं की पेंशन के अलावा उनके घर वालों को मिलने वाली पेंशन को भी रिवाइज किया जाएगा। पंजाब के मुख्यमंत्री ने आगे यह भी कहा कि आने वाले दिनों में आपको इसके बारे में विस्तृत जानकारी मिलने वाली है।

One MLA One Pension पर भगवंत मान ने क्या कहा?

भगवंत मान ने लाइव आकर यह भी कहा कि यह जो भी पैसा बचेगा वह सिर्फ लोगों की भलाई के लिए खर्च किया जाएगा क्यों कोई व्यक्ति जब सेवा के लिए आता है तो उसे बार-बार पेंशन चाहिए। सेवा करने के इरादे से आए व्यक्ति को कितनी पेंशन नहीं मिलनी चाहिए।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने यह भी कहा कि चाहे वह विधायक सेटिंग एमएलए है या फिर पूर्व एमएलए यह कानून उन सभी पर लागू होगा। और साथ ही में उनके परिवार पर भी यह कानून लागू होगा जो ज्यादा पेंशन उठा रहे हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री के इस फैसले के बाद पंजाब के कई बड़े नेताओं को झटका लगा है जिन्हें कई बार विधायक रहने के कारण जिनको लाखों रुपए की पेंशन मिलती थी आज वह बंद हो जाएगी।

मान साहब ने यह भी कहा कि कोई भी विधायक एक बार जीता है या फिर वह दोबारा जीता है तो उसे हर टर्म की अलग-अलग पेंशन मिलती है जिससे सरकार के ऊपर बहुत सारा बोझ बढ़ जाता है। सरकार का कहना है कि यह भी है कि कुछ ऐसे नेता भी है जो एमपी भी रह चुके हैं और एमएलए भी रह चुके हैं उनको सिर्फ सरकार के तरफ से एक ही पेंशन का लाभ मिले अलग-अलग पेंशन मिलते मिलने से सरकार के ऊपर बहुत सारा बोझ बढ़ जाता है।

आम आदमी पार्टी के इस फैसले की कई सारे नेताओं ने तारीफ की है जैसे कांग्रेस के नेता पनघटसिंह ने पंजाब सीएम के इस फैसले की खूब जमकर तारीफ की है।

क्या One MLA One Pension आप पार्टी का भविष्य है? 

पंजाब सरकार को आर्थिक स्थिति पर मजबूत करने के लिए पंजाब सरकार और भी कई सारे फैसले आने वाले दिनों में ले सकती है अब आगे देखना यह होगा कि तीन लाख करोड़ के कर्ज तले दबे पंजाब को किस तरह से आम आदमी पार्टी के नेता बाहर निकालते हैं अब पंजाब का भविष्य की सरकार देश का भविष्य तय करेगा कि आगे भी पंजाब के अलावा किसी और राज्य में आपकी आम आदमी पार्टी की सरकार आएगी या नहीं। 

क्या है One MLA One Pension का गणित?

लाल सिंह को हर महीने 3,55,000 की पेंशन मिलती है। राजविंदर कौर को ₹3,25,000 की पेंशन मिलती है। अभी तक पंजाब में सबसे ज्यादा बार एमएलए प्रकाश सिंह बादल चुने जा चुके हैं जिस कारण उनकी पेंशन भी कई लाखों में बनती है।

इन मजेदार लेख को भी पढ़े 

IPC Section 354 In Hindi | धारा 354 में क्या प्रावधान है, देखिये

Zomato 10 minute Delivery : इंडिया में यह कैसे कार्य करेगा, देखिए चौंकाने वाले खुलासे

Leave a Comment